आ ही गए हो मेरे भारत देश मे... - मयंक शर्मा

by April 26, 2020 1 Comments
आ ही गए हो मेरे भारत देश मे 
तो नज़रे भी चुरा सकते नही,
हाथ जोड़कर करते हैं स्वागत,
हाथ हम मिला सकते नहीं,

परम्परा है अतिथियों का सत्कार करने की, 
इसलिए नज़रे तुमसे चुरा सकते नही,
हाथ जोड़कर करते हैं स्वागत,
हाथ हम मिला सकते नही,

तेरे आने  से देश मे मायूसी सी छाई है ,
जैसे एक आंधी,काली घटा घेर लायी है ,
फिर भी नही डरेंगे तुमसे,
क्योंकि चिकित्सा पद्धति सबसे पहले भारत में ही आयी है,

निपटने का तुझसे अब 
हर सम्भव प्रयास जारी है ,
तुमने तो फैला लिया अपना कहर,
अब निपटने की आयी बारी है,

निकाल फेकेंगे तुझको इस देश की जड़ो से हम,
जैसे तुम कभी यहाँ आये ही न थे,
Doctors की मेहनत से बेफिक्र हो जाएगा यहाँ का हर एक नागरिक,
जैसे वो इससे कभी घबराए ही  न थे,

Doctors की मेहनत,समर्पण,और 
उनके इस ज़ज़्बे को में दिल से सलाम करता हुँ,
कोई कितना भी करले अपमानित आपको ,
पर में इस दुख की घड़ी में आपकी मेहनत को सत सत प्रणाम करता हूँ,

मेरे देश पे आके तूने 
ए virus नज़रे जो गढ़ा दी,
यहाँ तो पहले से ही थी लोगो में नजदीकियां बहुत कम,
तूने तो आके दूरिया और बढादी,

डरने लगा है आदमी -आदमी को गले लगाने से ,
इससे ज्यादा बुरा दृश्य इन आँखों के लिए और क्या होगा,
भगाएंगे तुझको यहाँ से ऐसे जैसे न तू यहाँ था न यहाँ होगा,
जो जहाँ है वही रुक गया है ,ना कोई कही आ रहा है ना जा रहा है ,

तेरी वजह से कितना परेशां ये इंसा हो रहा है , 
कितनो की ज़िन्दगी छीनली है तूने ,कितनो के घर उजाड़े है तूने,
चहल -पहल रहती थी जहाँ चारो और ,
सब ठिकाने तेरे कहर से हो गए हैं सूने- सूने,

है ईश्वर है अल्लाह इस दुख की घड़ी से बचा दुनिया को,
जैसे निवारण करता है कष्टो का वेसे ही निपटा दे इस महामारी को,
हर जनमानस की प्रतिरक्षा की शक्ति बढ़ा देना तू,
Virus के हमले से पहले,virus को ही मिटा देना तू (2)

Creation by - Mayank Sharma
Instagram Id - mayank1166

Aman Prithviraj

Developer

Cras justo odio, dapibus ac facilisis in, egestas eget quam. Curabitur blandit tempus porttitor. Vivamus sagittis lacus vel augue laoreet rutrum faucibus dolor auctor.

1 comment: